Welcome, Guest. Please login or register.

Username: Password:
Pages: [1]   Go Down

Author Topic: KESHAV & SHARMA JI : Crime Against Men  (Read 375 times)

gursharn

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 70
    • View Profile
KESHAV & SHARMA JI : Crime Against Men
« on: June 15, 2017, 01:43:12 PM »

KESHAV & SHARMA JI : Crime Against Men

MEN'S HUB


Dr. G.Singh


शर्मा : देखिये केशव जी विशाखापट्नम मैं क्राइम कितना बढ़ रहा है
केशव : अच्छा कैसे
शर्मा : देखिये हर रोज 1 महिला गायब हो रही है
केशव : तो क्या
शर्मा : आपका क्या मतलब है यह कोई मुदा ही नहीं है
केशव : विशाखापट्नम की आबादी कितनी है
शर्मा : 20 लाख से ज्यादा
केशव : तो क्या 365 कोई बहुत बड़ा नंबर है और इनमे से बहुत सारी वह भी होंगी जो शादी या किसी दूसरे कारन से घर छोड़ कर चली गयी होंगी
शर्मा : जब भी कोई महिलाओं से सम्बंधित बात होगी आप तो विरोध करेंगे ही
केशव : ऐसा इलज़ाम क्यों
शर्मा : आपका पुराना रिकॉर्ड है
केशव : अच्छा चलिए आप बताइये की विशाखापट्नम मैं कितने पुरुष हर रोज़ गायब होते हैं
शर्मा : पता नहीं
केशव : अच्छा चलिए आप बताइये की विशाखापट्नम मैं कितने पुरुष हर रोज़ एक्सीडेंट मैं मरते हैं
शर्मा : पता नहीं
केशव : अच्छा चलिए आप बताइये की विशाखापट्नम मैं कितने पुरुषों की हर रोज़ हत्या कर दी जाती है
शर्मा : पता नहीं
केशव : अच्छा चलिए आप बताइये की विशाखापट्नम मैं कितने निर्दोष पुरुष हर रोज़ जेल चले जाते है
शर्मा : पता नहीं
केशव : अच्छा चलिए आप बताइये की विशाखापट्नम मैं कितने पुरुष हर रोज़ धोखादड़ी का शिकार होते हैं
शर्मा : पता नहीं
केशव : अच्छा चलिए आप बताइये की विशाखापट्नम मैं कितने पुरुष हर रोज़ आतम हत्या करते हैं
शर्मा : पता नहीं
केशव : अरे चलिए यह तो बता दीजिये की कितने पुरुष हर रोज़ रेप का शिकार होते हैं
शर्मा : क्या फालतू बकवास करते हैं केशव जी कहीं पुरुषों का रेप भी होता है
केशव : विज्ञान नाम की चिड़िया का नाम सुना है कभी | उसके मुताबिक सोच कर बताएं
शर्मा : चलो मान लिया की वैज्ञानिक आधार पर पुरुष का भी रेप हो सकता है | परन्तु सुना है कभी किसी पुरुष ने रेप की शिकायत की हो
केशव : चलिए इसे दो भागों मैं बाँट कर देखते हैं
शर्मा : जरूर
केशव : अगर पुरुष पुलिस कम्प्लेन करना कहे तो किस धारा मैं करेगा
शर्मा : IPC  376
केशव : IPC  376 सिर्फ महिलाओं के लिए है
शर्मा : तो और कोनसी धारा है
केशव : कोई भी नहीं पुरुषों को रेप सरक्षण किसी धारा मैं नहीं आता
शर्मा : इसका मतलब पुरुष रेप की शिकायत ही नहीं कर सकता
केशव : मोटे तौर पर नहीं
शर्मा : तो फिर सरकार गिनती कैसे करती है पुरुष रेप की
केशव : नहीं करती
शर्मा : हम्म अच्छा दूसरा पक्ष आप कुछ कहने वाले थे
केशव : आपने पिछली बार कहा था की ज्यादातर महिलाएं रेप की शिकायत नहीं करती
शर्मा : जी हां जितने रेप दर्ज़ होते हैं उससे तकरीबन 5 गुना ज्यादा रेप होते हैं
केशव : यह 5 नंबर कहाँ से आया
शर्मा : पता नहीं
केशव : चलिए छोड़िये महिला रेप की बात बाद मैं करेंगे अभी यह बताइये क्या यही स्थिति पुरुष की नहीं होगी
शर्मा : कोनसी स्थिति
केशव : शर्म के मरे जुबान न खोलने वाली
शर्मा : हो सकती है
केशव : हो सकती है या होगी ही
शर्मा : होगी ही
केशव : क्यों ?
शर्मा : क्योंकि भारत मैं पुरुष के आंसुओं की कोई कदर नहीं उनका मज़ाक बनाया जाता है जो रोते हैं
केशव : बिलकुल सही भारत मैं रोटी हुई महिला को सभी लोगों का समर्थन परन्तु रोते हुए पुरुष को दुत्कार पड़ती है  पुरुष के लिए रेप के बारे मैं जुबान खोलना महिला से ज्यादा मुश्किल है
शर्मा : ठीक
केशव : चलिए अब यह बतयइए की कितने पुरुष डोमेस्टिक वायलेंस का शिकार है
शर्मा : केशव जी आप यह सवाल जवाब छोड़िये और मुद्दे की बात पर आइये
केशव : मुद्दे की बात यही है की क्राइम बढ़ रहे हैं यह चिंता का विषय है परन्तु क्राइम का मतलब सिर्फ महिला के खिलाफ होने वाले क्राइम से नहीं है
शर्मा : ऐसा तो मैंने नहीं कहा
केशव : बिलकुल कहा
शर्मा : कब कहा
शर्मा : मेने सिर्फ उद्धरण दिया था
केशव : आपने उद्धरण नहीं दिया बल्कि आपको क्राइम के बारे मैं पता ही यही था की कितनी महिलाएं गायब होते है इससे हटकर कुछ पता ही नहीं था

शर्मा : हाँ यह बात तो है
केशव : और सिर्फ इसी जानकारी के आधार पर आपने कह दिया की क्राइम बढ़ रहा है
शर्मा : सही कहा आपने
केशव : ऐसा क्यों
शर्मा : शायद हम पुरुषों के खिलाफ होने वाले क्राइम को क्राइम ही नहीं मानते
केशव : बिलकुल सही और आप मुझ पर इलज़ाम लगा रहे थे की मैं महिला विरोधी हूँ
शर्मा : अरे वह तो वैसे ही
केशव : तो क्यों न हम शर्मा जी को पुरुष विरोधी का ख़िताब दे
शर्मा : आपकी मर्ज़ी है जैसा आप ठीक समझे पर इतना याद रखिये चाय पिए बगैर मैं जाने वाला नहीं हूँ
केशव : चलिए पीते है
शर्मा : चलिए
Logged


Pages: [1]   Go Up